Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन।शांतिनगर पुलिस स्टेशन अंतर्गत फातिमा नगर स्थित रहने वाली एक विवाहित महिला  परिवार तथा सगे-संबंधियों द्वारा दहेज प्रताड़ना से तंग आकर  मिट्टी का तेल डालकर आग लगाकर आत्महत्या कर लेने का मामला प्रकाश में आया है। उक्त घटना के बाद शांतिनगर पुलिस ने मृतका के पति मोहम्मद सलीम कलीम शेख, सास शाहजहां और मौसा दिलदार उर्फ मोहम्मद अय्यूब शेख को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उक्त घटना को लेकर क्षेत्र में हत्या या आत्महत्या के संदर्भ में चर्चाएं व्याप्त हैं ।
      प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जिला रायबरेली के सलोन गांव की रहने वाली रिजवाना का विवाह डेढ़ वर्ष पूर्व भिवंडी शहर के फातिमा नगर में रहने वाले उसकी मौसी के लड़के मोहम्मद शमीम शेख के साथ हुआ था । विवाह के बाद रिजवाना सात महीने से अपने ससुराल में रह रही थी। इसी बीच दहेज लोभी रिजवाना का पति मो शमीम और उसकी सास उसे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडित करने लगे थे। ससुराल वालों और रिश्तेदारों की यातना से तंग आकर रिजवाना ने घर के बाथरूम में जाकर अपने ऊपर राकेल डाला और खुद को आग लगा लिया। जिसमें वह 80 प्रतिशत जल गई थी। उक्त घटना के बाद ससुराल वालों ने उसे शहर के एक निजी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया था परंतु उसकी स्थिति चिंताजनक होने के पश्चात ससुराल वालों ने उसे नई मुंबई के बर्न अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई ।
 पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक रिजवाना ने नई मुंबई के अस्पताल में उपचार के दौरान  बयान दिया था कि खाना बनाते समय स्टोव भड़क जाने के कारण वह बुरी तरह जल गई थी। उक्त घटना के बाद मृतका  के पिता मुश्ताक अहमद अब्दुल गफ्फार ने शांतिनगर पुलिस स्टेशन में रिजवाना के पति, सास और मौसा पर उसे यातना देने और आत्महत्या पर मजबूर करने  की शिकायत दर्ज कराई। मृतका रिजवाना के पिता की शिकायत के बाद शांतिनगर पुलिस ने उक्त तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जिन्हें न्यायालय ने तीनों को न्यायिक हिरासत में रखने का आदेश दिया है।उक्त संदर्भ में मृतका के पिता को स्थानीय लोगों ने जानकारी दी कि रिजवाना ने न तो बाथरूम में जाकर अपने आप को आग लगाई है और न ही स्टोव भड़कने से उसकी मृत्यु हुई है, जिस घर में आग लगने की घटना घटित होने की बात बताई गई है उस घर की दीवार व बाथरूम के पर्दे पर आग लगने का कोई निशान व प्रमाण नहीं मिल रहा है, तथा घर का सामान भी सब सुरक्षित और व्यवस्थित है। जबकि शांतीनगर पुलिस भी रिजवान की स्टोव भड़कने के कारण मृत्यु हो गई है इस प्रकार का मामला पुलिस ने एफआईआर क्रमांक 216/018 भादवि 306,498,34  अंतर्गत मामला  दर्ज कर लिया है जिसकी विस्तृत जांच पुलिस उपनिरीक्षक अरदालकर कर रहे हैं। परंतु मृतका के पिता मुश्ताक अहमद अब्दुल गफ्फार शेख ने उक्त हत्या प्रकरण में ठाणे पुलिस आयुक्त, पुलिस उपायुक्त परिमंडल 2 भिवंडी, गृहमंत्री, मानवीय हक आयोग को ज्ञापन देकर न्याय की गुहार लगाई है तथा सीबीआई द्वारा जांच की मांग की है और दोषियों के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है।

Post a comment

Blogger