Ads (728x90)

समस्तीपुर ::समस्तीपुर जिले भर मेे पुलिस संरक्षण में तेजी से अवैध शराब कारोबारी फल फूल रहे ह.ैं क्योंकि हर क्षेत्र में प्रतिदिन 2-3 पीने वाले पुलिस की गिरफ्त में आते हैं ,जब पब्लिक विरोध नहीं होता लेनदेन करके छोड़ देने का भी समाचार मिलते हैं ,अगर पब्लिक विरोध होता है तब उन्हें सीधे जेल भेजे जाते हैं लेकिन हर संभव उपाय कम सजा हो इस पर विशेष ध्यान पुलिसकर्मी को रहता आ रहा है, क्योंकि कुछ ना कुछ पियक्कर के माध्यम से मिल ही जाता है. उसके बाद शराब कारोबारी  से है उसे एकमुश्त मोटी रकम भी प्राप्त होते रहते हैं कई विशेषज्ञों ने बताया की गिरफ्तार व्यक्ति से पुलिस क्यों नहीं पूछती कहां से यह दारू लाए गये है और इस आधार पर दारू बेचने वाले लोगों पर कार्रवाई कर की जाती है ऐसा इसलिए नहीं किया जाता पुलिस का कथन है कि मैं  शादी भी कराता हूं और विवाह भी करता हूं जब कभी इस बात को लेकर विरोध करते हैं तो पुलिस वाले यह कहते हैं कि जब अपना पर पड़ता है तब दूसरे के खिलाफ शिकायत की जाती है हमारे संवाददातां का यह मानना है कि पुलिस को सही सुरागें दी जाती है तो पुलिसवाले  सुराग देने वालों का नाम बता कर पहले तो उस पर हमला करवा देते हैं  चलाते फिर थाने पर जख्मी लोगों को मानसिक रूप से टॉर्चर ही करते हैं 

Post a comment

Blogger