Ads (728x90)


बदौसा(बांदा)।  जन अधिकार पार्टी (महिला प्रकोष्ठ) की नव नियुक्त प्रदेश उपाध्यक्ष उमा कुशवाहा का बांदा में जोरदार स्वागत हुआ। स्वागत समारोह में श्रीमती कुशवाहा नें कहा आजादी की 70 दशक बाद भी देश में महिलाएं सुरक्षा और सम्मान की मोहताज हैं। देवरिया के बालिका संरक्षण गृह पर बालिकाओं के साथ शारीरिक, मानसिक और यौनिक शोषण के मामले तथा कालपी में शौच गयी किशोरी के साथ सामूहिक दुराचार की घटना शर्मनाक है। जुमलों को बेंच कर महिलाओं की सुरक्षा नहीं की जा सकती है।

मंगलवार को कस्बे में जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय संस्थापक मा0 बाबू सिंह कुशवाहा (पूर्व मंत्री) द्वारा उमा कुशवाहा को पार्टी  के महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत करके प्रदेश के नेतृत्व का दायित्व सौंपे जाने पर जोरदार स्वागत किया गया। श्रीमती उमा कुशवाहा पार्टी कार्यकताओं का आभार ब्यक्त करते हुए बोली वह 20 साल से महिलाओं के साथ हो रही हिंसा, सुरक्षा, सम्मान, स्वास्थ्य और अधिकारों के लिए बांदा की धरती से संघर्ष की शुरुकर आज प्रदेश स्तर पर हाशिए पर दलित, पिछड़ी, शोषित और मजलूम महिलाओं और लडकियों की आवाज बुलंद कर बराबरी के अधिकारों तक पहुंच के लिए जातियों की संख्या के आधार पर हर क्षेत्र में महिलाओं को आरक्षण दिलानें हेतु जन अधिकार पार्टी के साथ जमीन पर उतरी है। महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और अधिकारों के लिए जमीनी जंग के लिए पार्टी कार्यकर्ता सघन सदस्यता अभियान चला कर पार्टी को मजबूत करें।

श्रीमती कुशवाहा नें कहा महामानव गौतम बुद्ध की धरती पर आजादी की 70 दशक बाद भी महिलाएं और लड़कियां अपने ही देश में सुरक्षित नहीं हैं, कोई ऐसा दिन नहीं जब महिलाओं के साथ रेप, मारपीटी, हत्या, छेड़छड़ जैसे गम्भीर मामलों अखबारों की सुर्खियों में न गूंजते हों, मगर सरकार निरुत्तर है। मुजफ्फरपुर (बिहार) के बाद उत्तर प्रदेश के देवरिया में बालिका संरक्षण गृह पर बालिकाओं से सैक्स रैकट चलाने का शर्मनाक मामला तथा बुन्देलखण्ड के कालपी में शौच करने गयी किशोरी के साथ सामूहिक दुराचार की घटना महिला सुरक्षा और सरकार के स्वच्छ भारत मिशन की पोल खोल खोलती महिला विरोधी नीतियों का परिणाम है। सरकार बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ का नारा दे कर महिलाओं को गुमराह किया है। जुमले फंेक कर महिलाओं की सुरक्षा नहीं की जा सकती है। महिला एवं बाल विकास मंत्री रीता बहुगुणा जोशी को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।

श्रीमती कुशवाहा नें कहा सरकार नें एन्टी रोमियो आपरेशन चला कर लडकियों को परेशन किया, मगर ऐसे कुकृत्यों को अन्जाम देने वालों के खिलाफ कदम उठानें से सरकार क्यों डरती है ? आज देश मंे महिलाएं असुरक्षित हैं, घर से निकलनें के बाद कोई बालिका व महिला सुरक्षित घर लौटे गी या नहीं ? इसकी चिन्ता परिजनों को सताती है। 
श्रीमती उमा चतुर्वेदी जिला प्रभारी बांदा नें कहा महिलाओं सम्मान में उमा कुशवाहा मैदान में आयी हैं। यह बांदा जिले की वरिष्ठ समाज सेविका है इन्होने महिलाओं के अधिकारों की जो लड़ाई शुरू की थी उस संघर्ष को जन अधिकार पार्टी के संस्थापक मां0 बाबू सिंह कुशवाहा के नेतृत्व में प्रदेश और देश के स्तर पर उठाएंगी, हम सभी इनके साथ हैं। नरैनी विधान सभा अध्यक्ष श्रीमती भगवनिया निसाद, उर्मिला कुशवाहा बांदा, प्रेमा कुशवाहा जिला महासचिव, राजकुमारी गुप्ता जिलाकोषाध्यक्ष, रामभवन कुशवाहा जिला महासचिव, माता प्रसाद वर्मा, विजयबहादुर, होरीलाल प्रजापति आदि नें कहा महिलाएं जन अधिकार पार्टी के साथ जुड़ रही हैं। आधी आवादी की अधिकारों और सुरक्षा की लड़ाई जन अधिकार पार्टी लड़ने को कमर कस कर उतरी है।


Post a comment

Blogger