Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी तालुुका के दापोडा गावं स्थित एक  निजी भूखंड के तल मंजिल पर पार्किंग बनाया था जिसके लिए हफ्ता की रकम नारपोली पुलिस स्टेशन के सहायक पुलिस उपनिरीक्षक बजरंग सीताराम ढोकरे ( ५६) व पुलिस नाईक संतोष महालू इरणक ( ४०) इन दोनों को दस हजार रुपये रिश्वत की रकम  स्वीकारते हुए ठाणे एसीबी विभाग के अधिकारियों ने गुरुवार की रात माणकोली नाका स्थित पुलिस चौकी पर जाल बिछा कर गिरफ्तार कर लिया है। दापोडा गांव के शिकायतकर्ता यशवंत हरिश्चन्द्र पाटिल की ठाणे - भिवंडी बायपास रोड से सटे हुए सर्वे क्रमांक ९३ / १ की इनकी निजी भूखंड है। इस स्थान पर पाटिल  ने पूर्व आठ वर्षों से  (ट्र्क पार्किंग )का व्यवसाय कर रहे थे  जहां मुंबई की ओर जाने वाले ट्रक,कंटेनर पार्किंग में खडा करते थे।इसलिए नारपोली पुलिस स्टेशन के सहायक पुलिस उपनिरीक्षक बजरंग सीताराम ढोकरे व पुलिस नाईक संतोष महालू इरणक इन दोनों ने पूर्व छह महीने से उक्त भूखंड पर वाहनतल शुरु रखने के लिए व पुलिस कार्रवाई न करने के लिए प्रति माह २५ हजार रुपये हफ्ता की मांग की थी।  अंत में दस हजार रुपये देने की बात तय हुई।  हफ्ते की रकम वसूलने के लिए पुलिस तंग करने लगी थी।जिसकारण यशवंत पाटिल ने उक्त घटना संबंधित शिकायत ठाणे एसीबी  विभाग से कई। जिसके अनूसार शिकायत पर जांच पड़ताल करने के बाद ठाणे एसीबी  विभाग के पथक ने गुरुवार की रात को जाल बिछा कर  माणकोली पुलिस चौकी में ही १० हजार रुपया रिश्वत की रकम  स्वीकारते हुए दोनों पुलिस कर्मियों को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया है। उक्त घटना के बाद पुलिस विभाग में हडकंप मचा हुआ है। उक्त प्रकरण की विस्तृत जांच  पुलिस उपाधीक्षक अंकुश बांगर कर रहे हैं। शुक्रवार को दोपहर इन दोनों रिश्वत खोर पुलिस को ठाणे जिला सत्र न्यायालय में पेश किया गया जिन्हें मा न्यायालय ने २३ जुलाई तक पुुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है।

Post a comment

Blogger