Ads (728x90)

-बरेंव गांव में पशुओं के मरने का सिलसिला जारी, अबतक 16 पशुओं की हो चुकी है मौत
-पागल कुत्ते के काटने से गांव के 60 पशु और 12 नागरिक हुए थे जख्मी


मीरजापुर,हिन्दुस्तान की आवाज, संतोष देव गिरी

मीरजापुर। जिले के अदलहाट थाना क्षेत्र के बरेंव गांव में मवेषियों की लगातार हो रही मौत से पषुपालक परेषान हो उठे हैं। एक पर एक हो रही मवेषियों की मौत से ग्रामीण भी दहल उठे हैं। वहीं संबंधित विभाग की उदासीनता से मरे हुए पशु को खुले में फेकने से गांव में संक्रामक बीमारी के फैलने का भय बना हुआ है। बताते चले कि बरंेव गांव में अब तक 16 मवेषियों की मौत हो चुकी है। इसमें दर्जन मवेषी दुधारू होने बताये जा रहा हैं। जब कि 60 मवेषी और दर्जन भर लोग जख्मी होने बताये जा रहे है। जिन्हें पालग कुत्ते ने काट लिया है। ऐसे में गांव में दहषत व्याप्त हो गया है। बताते चले कि पिछले कई दिनों से उक्त गांव में एक पालग कुत्ते का आतंक इस कदर व्याप्त है कि लोग उसे देखते ही भाग खड़े हो रहे हैं। ग्रामीणों की माने तो पागल कुत्ते ने अब तक दर्जन भर लोगों को काटने के साथ कई मवेषियों को भी काट कर बुरी तरह से जख्मी कर दिया है। इनमंे से 16 मवेषियों की जहां मौत हो चुकी है वहीं 60 मवेषी जख्मी होने बताये जा रहे हैं। मरे हुए मवेषियों को गांव के सिवान में खुले में फंेक देने से संक्रामक बीमारियों के जहां फैलने का भय बना हुआ है वहीं कुछ लोग मना करने के बाद भी मरे हुए मवेषियों को खुले में ही फेंकने पर अड़े हुए है जिससे गांव में तनाव व्याप्त होने के साथ ही साथ लोगों का सांस लेना भी दूभर हो चला है। गांव में मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी मीरजापुर जहां गांव का दौरा कर स्थिति का जायजा लेने के साथ घायल पशुओं को देख चुके हैं वहीं अभी तक प्रशासन की ओर से कोई भी जिम्मेदार जन गांव में नहीं पहुंचा है जिससे ग्रामीणों में आक्रोष है। ग्रामीणों का कहना है कि पागल कुत्ते के आतंक के साथ कई पषुओं की अज्ञात बीमारी से भी मौत हो रही है जिन्हें बचाने का कोई ठोस उपाय न होने से पशुओं के मरने का सिलसिला जारी होना बताया जा रहा है



Post a comment

Blogger