Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी शहर के अंजूरफाटा क्षेत्र स्थित संचालित श्री हलारी विशा ओसवाल स्कूल प्रशासन ने विद्यार्थियों के फीस में अचानक वृद्धि कर दी है ।जिसके विरोध में महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना ने गुरुवार को अभिभावकों के साथ स्कूल के मुख्य कार्यालय पर आंदोलन कर प्रदर्शन किया तथा फीस वृद्धि का तीव्र विरोध किया । आंदोलन की तीव्रता को देखते हुए नारपोली पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए आक्रोशित मनसे कार्यकर्ताओं और स्कूल के बीच मध्यस्थता की। जिसमें तय हुआ कि 11 जुलाई को आंदोलनकारी कार्यकर्ता तथा स्कूल प्रबंधन कमेटी के बीच इस मुद्दे पर चर्चा होगी। पुलिस के बीच बचाव के बाद 1 घंटे से शुरू विरोध प्रदर्शन व आंदोलन को मनसे कार्यकर्ताओं ने वापस ले लिया है ।
           गौरतलब है कि  भिवंडी शहर  के अंजुरफाटा क्षेत्र स्थित श्री हालारी शिक्षण राहत संघ नामक संस्था द्वारा श्री हालारी विशा ओसवाल अंग्रेजी माध्यम  स्कूल संचालित है। इस स्कूल में पालक शिक्षक संघ की मान्यता के सिवाय विद्यार्थियों को शैक्षणिक फीस में वृद्धि करने की घोषणा कर दी गई ।  फीस न भरने पर विद्यार्थियों को फीस के साथ विलंब शुल्क व दंड इस प्रकार छह हजार रुपये पालकों को भरने का आदेश जारी किया गया है ।  फीस का भुगतान समय पर नहीं किया गया तो विद्यार्थियों को पूर्व सप्ताह से स्कूल से बाहर निकाल कर अपमानित किया जा रहा है।  इस प्रकार की शिकायत कुछ अभिभावकों ने मनसे विद्यार्थी सेना के ठाणे जिला अध्यक्ष संतोष सालवी से की। मनसे विद्यार्थी सेना अध्यक्ष सालवी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने स्कूल की मुख्याध्यापिका  अनीता सिंह के कार्यालय में घुसकर जोरदार नारेबाजी कर आंदोलन किया। उक्त आंदोलन की जानकारी मिलने के बाद नारपोली पुलिस स्टेशन की पुलिस उपनिरीक्षक योगिता कोकाटे ने घटनास्थल पर पहुंचकर स्कूल व्यवस्थापन के प्रमुख दीपक शाह से आंदोलन कर रहे मनसे कार्यकर्ताओं की भेंट कराई, तथा इसके बीच का रास्ता निकालने का निश्चय किया। इस बातचीत के दौरान बुधवार को 11 जुलाई के दिन एक बार विद्यार्थियों के अभिवावक, महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के पदाधिकारी तथा स्कूल प्रबंधक कमेटी के प्रतिनिधि की बैठक आयोजित की जाएगी । विद्यार्थियों के अभिभावकों के पालक शिक्षक संघ ने  बताया कि विद्यालय के प्रबंधन कमेटी हर वर्ष मनमानी फीस वृद्धि करती है।  उन्होंने बताया कि फीस वृद्धि के संदर्भ में उनसे कोई बात नहीं की जाती है ।समय से फीस न भरने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों से मन माने ढंग से विलंब शुल्क के साथ दंड वसूल किया जाता है। विद्यार्थियों के अभिभावकों ने बताया कि इस संदर्भ में उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को लिखित शिकायत पत्र भेजा दा जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके कारण हमें यह आंदोलन करना पड़ा। वहीं महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के नेताओं ने स्पष्ट तौर पर कहा कि यदि इस समस्या का समाधान नहीं किया गया तो महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना भविष्य में और उग्र आंदोलन करेगी। इस संदर्भ में स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष दीपक शाह से मुलाकात करने पर उन्होंने बताया कि जो विद्यार्थी समय पर फीस नहीं भरते उन्हें शासन के नियमानुसार दंडवत विलंब शुल्क वसूल करने का अधिकार स्कूल प्रशासन को है ।पूर्व 2 वर्ष में इस संघ की स्थापना नहीं की गई है ।फीस वृद्धि  के संदर्भ में  शिक्षा विभाग  के पास प्रस्ताव भेजकर उसके बाद ही  उसके आदेशानुसार  उस पर अमल किया जाएगा।उक्त आंदोलन में अभिभावकों सहित महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना पदाधिकारी परेश चौधरी ,संजय पाटिल, मनोज गुलवी, तालुका सचिव शरद नागावकर, विद्यार्थी सेना पूर्व शहर अध्यक्ष योगेश धुले, कल्याण तालुका अध्यक्ष हर्षल भोईर, महाराष्ट्र सैनिक मनोज गुलवी, तालुका सचिव परेश चौधरी, उप शहर अध्यक्ष कुणाल अहिरे, उप तालुका अध्यक्ष सचिन पाटिल ,मिलिंद तरे, विभाग अध्यक्ष कुमार पुजारी, शाखा अध्यक्ष वैजन भोईर, हर्षल पाटिल, मोतसिन नाखुदा सहित अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता सहभागी हुए।

Post a comment

Blogger