Ads (728x90)

समस्तीपुर, हिन्दुस्तान की आवाज , राजकुमर राइ

पटना। बिहार पुलिस अपराध कर्मी को करती है ,संपूर्ण बिहार में शस्त्र एवं गोलियों की आपूर्ति करती है।                 जानकारी के मुताबिक यह कोई नई बात या घटना नहीं है ,समस्तीपुर जिला में लगभग 30 साल पहले जब समस्तीपुर मंडल कारा और नगर थाना समेत पुलिस लाइन शहर में हुआ करता था। उस समय तत्कालीन मेजर सार्जेंट गोपी कांत मिश्रा ने भी कारा अधीक्षक, जेलर, मिलीभगत से अपराध कर्मी जेल से बाहर आते थे और पुलिस लाइन से हथियार लेकर शहर में अपराध कर पुनः जेल में वापस लौट जाते थे। इस क्रम में 2-3 अपराध कर्मी हथियार (पिस्तौल)लेकर फरार हो गए थे।
           यह कोई नई बात नहीं है पुलिस के संरक्षण में बड़े-बड़े अपराध होते आ रहे हैं।
              जानकारी के मुताबिक 2005 से 2018 तक बिहार के लगभग 38 से 42 पुलिस लाइन से भारी मात्रा में हथियार और कारतूसों कि गायब होने की चर्चा भी है, बताया जाता है कि  2005-2018 मेपुलिस महानिर्देशक के कार्यकाल में हथियार और गोलियों की आपूर्ति अपराध कर्मी और आतंकी गतिविधियों में   संलिप्त व्यक्तियों कोमोटी राशि लेकर आपूर्ति की जाने की सूचना है। 2005 से 2018 तक में कार्यरत पुलिस महानिर्देशक के कार्यकाल की जांच की जाने की जरूरत है 

Post a comment

Blogger