Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन । भिवंडी मनपा क्षेत्र अंतर्गत घूंघट नगर स्थित शंकर मंदिर के पास गटर की साफ सफाई न होने के कारण गटर का मलयुक्त पानी व कीचड़ सड़कों पर बहने से हर तरफ गंदगी फैली हुई है जिसकारण लोगो के स्वास्थ को खतरा बढ़ रहा है। गौरतलब है कि पिछले दिनों हुई मूसलधार बरसात में बाढ़ का पानी भरने के बाद घूंघट नगर में अनेक समस्याएं बढ़ गई हैं। चारों तरफ गंदगी फैली हुई है। पावरलूम कारखाने की दीवार गिरने के कारण मलबे से पूरी गटर जाम हो गई थी जिसे अभी तक साफ नहीं किया जा सका है। मनपा प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद केवल पेट्रोल पंप के मालिक को गटर बंद करने के लिए नोटिस देकर अपना पल्ला झाड़ने  में लगे हुए हैं। वहीं स्थानीय नागरिकों की शिकायत है कि जो दीवार बरसात के समय नाले में गिर पड़ी थी उसका बाकी जर्जर हिस्सा अभी भी उसी तरह पड़ा है, जो बरसात के समय कभी भी गिर सकता है। कारखाने की दीवार गिरने के कारण पूरा नाला मलबे से बंद हो गया था। जिसके कारण आसपास के 50 घरों में पानी घुस गया था। पानी निकलने के बाद क्षेत्र में पूरी तरह से कीचड़ भर गया है। शंकर मंदिर से लेकर आसपास की सारी नालियां कीचड़ और मिट्टी से जाम हो गई है। जिसके कारण चारों तरफ गंदगी फैली हुई है।संक्रामक बीमारियों का प्रकोप बढते जा रहा है और लोगों के स्वास्थ्य को धोखा हो रहा है। मोहल्ले में चारों तरफ गंदगी फैली हुई है जिसकी साफ सफाई करने के लिए मनपा के सफाई कर्मचारी मोहल्ले की तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। बरसात में आई बाढ़ और परेशानी के संदर्भ में समाचार पत्रों में छपी खबर के बाद भी मनपा प्रशासन उक्त समस्याओं को दूर करने के बजाए नजरअंदाज कर रहा है। स्थानीय समाजसेवक पीडी यादव का कहना है कि यदि समय रहते मनपा प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया तो कारखाने की जर्जर दीवार फिर से गटर में गिरेगी और गटर भर जाएगी।इसी प्रकार मोहल्ले की अन्य छोटी नालियां बाढ़ के बाद कचरे से पूरी तरह से भर गई है यदि बरसात के मौसम में पुनः तेज बरसात हुई तो घुंघट नगर में फिर से बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न होगी और लोगों को वापस घर छोड़ कर भागना पड़ेगा। लोग बेघर होंगे और इनकी जान माल को भी खतरा होने से इन्कार नहीं किया जासकता है यदि ऐसा हुआ तो उसका जिम्मेदार कौन होगा?

Post a comment

Blogger