Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी महानगरपालिका की गटर के हजारों खुले चेंबर प्राणघातक हो गए हैं। गटर के खुले चेंबर में गिरने से एक युवक के सिर में गंभीर चोट लगी है जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है । उसके आंख के पास लगी चोट में 12 टांके लगे। शहर में इस प्रकार की  घटनाओं का घटित होना आम बात है। क्योंकि पूरे शहर के मुख्य सड़कों से लेकर गली-मोहल्लों तक बनी गटरों के चेंबर के ढक्कन हजारों की संख्या में गायब हैं। नागरिकों की सैकड़ों शिकायतों के बावजूद मनपा प्रशासन गटरों के खुले चेंबर पर ढक्कन लगाने में अब तक विफल साबित हुई है। स्थानीय समाज सेवक व राकांपा पूर्व विभाग के युवा अध्यक्ष हारून खान ने मांग की है कि युवक के सिर में लगी चोट के लिए पूरी तरह जिम्मेदार मनपा प्रशासन है। इसलिए युवक के उपचार में खर्च हुए पैसे की भरपाई मनपा प्रशासन करें साथ ही पूरे शहर में अविलंब गटरों के ऊपर खुले चेंबर पर ढक्कन लगाया जाए।भविष्य में इस प्रकार की होने वाली सभी घटना के लिए मनपा प्रशासन प्रशासन जवाबदार होगी।
                ज्ञात हो कि  उक्त घटना मनपा प्रभाग समिति क्रमांक 3  अंतर्गत आसबीवी के नारायण कंपाउंड स्थित जय अंबे मंदिर के पास उस समय घटित हुई जब 28 वर्षीय पावरलूम मालिक मेहुल शाम के समय अपने पावरलूम कारखाने से घर की तरफ जा रहे थे ।  उनकी मोटरसाइकिल का पहिया गटर के ऊपर बने चेंबर में चला गया और वह  गटर के स्लैब पर गिर पडे । उनके सिर पर गंभीर चोट लगी और आंख के पास का हिस्सा फट जाने से उसे अस्पताल ले जाया गया ।संयोग अच्छा था कि युवक की आंख जाते-जाते बच गई। आंख के ठीक ऊपर लगे घाव  पर  12 टांके लगे हैं। गौरतलब हो कि आसबीबी से खदान रोड  स्थित पर रूंगटा डाइंग के पीछे जाने वाली सड़क के बीच में गटर बनाई गई है। उस गटर के ऊपर लगभग एक हजार मीटर तक जितने चेंबर हैं सभी खुले हुए हैं। इस क्षेत्र का नाला कचरे से भरा होने के कारण हल्की  बरसात में गटर ओवरफ्लो होकर पानी सड़क के ऊपर बहता है। जिससे यह पता नहीं लगता कि गटर के चेंबर का होल कहां खुला हुआ है ?  इस प्रकार की घटनाएं इस क्षेत्र में आए दिन घटित होती रहती है। अनजान व्यक्ति इस क्षेत्र में आता है तो उसके साथ इस प्रकार की घटनाएं  अधिकतर होती रहती हैं। इस क्षेत्र में सड़क के बीच बनी गटर के ऊपर के सभी ढक्कन लाइन से गायब हैं। स्थानीय निवासी राकांपा युवक  अध्यक्ष हारुन खान ने बताया कि विगत एक वर्ष से मनपा से इस संदर्भ में शिकायत की जा रही है और खुले चैंबरों के कारण गिर कर दर्जनों लोग घायल होने की जानकारी क्षेत्रीय अभियंता व मनपा प्रशासन को दिया गया। लेकिन आज तक गटरों के ऊपर चेंबर नहीं लगाया गया। खुले चेंबरों के कारण किसी भी दिन प्राणघातक दुर्घटना हो सकती है हारुन खान ने मनपा प्रशासन को  चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि एक सप्ताह के भीतर गटर के खुले चेंबर पर ढक्कन नहीं लगाए गए तो राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी मनपा के विरुद्ध आंदोलन शुरू करेगी जिसकी पूरी जिम्मेदारी मनपा प्रशासन की होगी।

Post a comment

Blogger