Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन ।राज्य के ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले को दिए गए ज्ञापन में भिवंडी मनपा महापौर जावेद दलवी ने कहा है कि "ड" वर्ग के श्रेणी के शहर पावरलूम उद्योग नगरी भिवंडी को विशेष शहर का दर्जा देकर बिजली दर को कम किया जाए, ताकि भिवंडी के पावरलूम उद्योग को संकट से उबारा जा सके तथा भिवंडी में रहने वाली दो तिहाई आबादी के अधिकतर गरीब पावरलूम मजदूरों को भारी बिजली बिल के बोझ से राहत दी जा सके।
गौरतलब हो कि, भिवंडी मनपा महापौर जावेद गुलाम दलवी द्वारा राज्य के ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले को दिए गए ज्ञापन के अनुसार, बिजली आपूर्तिकर्ता टोरेंट पावर कंपनी बिजली बिलों में अनाप-शनाप वृद्धि कर ग्राहकों से पैसा वसूल कर रही है। उद्योग में व्याप्त भीषण मंदी और टोरेंट पावर कंपनी की मनमानी कार्यप्रणाली के कारण पावरलूम उद्योग बंद होने के कगार पर पहुंच गया है जिससे लाखों लोग बेरोजगार हो रहे हैं। टोरेंट पावर कंपनी द्वारा लगाए गए बिजली मीटर फास्ट चलने के कारण अधिक बिजली बिल आने से ग्राहकों को भुगतान करने में  मुश्किल हो रही  हैं।ग्राहकों की शिकायतों पर टोरेंट पावर व्यवस्थापन कोई ध्यान नहीं दे रहा है । महापौर जावेद दलवी ने टोरेंट पावर कंपनी की कार्यप्रणाली पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि,पूर्व  2007 से भिवंडी शहर को फ्रंचाइसी  पर लेकर टोरेंट कंपनी ने पावरलूम उद्योग को लगभग बर्बाद कर दिया है. निरंतर दर माह बढ़ती बिजली दरों का भुगतान न कर पाने की वजह से पावरलूम मालिक कर्जदार हो रहे है। सरकार द्वारा पावरलूम उद्योग को बिजली बिल में राहत दिए जाने का लाभ पावरलूम मालिकों को नहीं मिल रहा है। एक तरफ सरकार एक देश एक कर की बात करती है वही कंपनी बिजली बिल में कई अन्य कर जोड़कर बिजली बिल की कीमत को सवा गुना बढ़ा देती है। पावरलूम उद्योग शहर भिवंडी में अन्य प्रदेशों से अधिक बिजली दर होने का खामियाजा पावरलूम मालिक व नागरिक वर्षों से भोग रहे हैं जो पावरलूम उद्योग व जनता के साथ बडा अन्याय है। महापौर दलवी ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सहित ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले को भेजे ज्ञापन में बताया है कि नागरिकों की शिकायत है कि टोरेंट कंपनी द्वारा लगाए गए प्राइवेट मीटर फास्ट चल रहे हैं तथा कंपनी के फ्लाइंग स्क्वायड द्वारा लोगों को मनमाने ढंग से पेनल्टी लगा कर पैसा वसूल किया जा रहा है। जिससे आम जनता त्रस्त है। इसलिए राज्य सरकार इसे गंभीरता से लेते हुए  जनता को राहत देने का कार्य करना चाहिए ।ताकि उद्योग को बर्बाद होने से बचाया जा सके ।

Post a comment

Blogger