Ads (728x90)

समस्तीपुर, हिन्दुस्तान की आवाज , राजकुमर राइ
पूर्णियाँ ::नगर निगम की सियासी राजनीति एक बार फिर चरम पर।पार्षदों भ्रष्टाचार के मुद्दे पर वर्तमान मेयर को घेरते हुए अविश्वास का प्रस्ताव लगाया है।नगर निगम के 20 पार्षदों ने अपना हस्ताक्षर युक्त आवेदन सौंप दिया है जिससे अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया।इसके साथ ही वर्तमान मेयर की कुर्सी खतरे में पड़ती नज़र आ रही है।सूत्रों की माने तो मेयर बिभा कुमारी का जाना तय माना जा रहा है।दूसरे खेमे की मेयर पद की दावेदार वार्ड नं 3 की पार्षद सबिता देवी इस दौड़ में शामिल है।हालांकि सबिता देवी शुरू से ही इस पद की प्रबल दावेदार रही है लेकिन अंत समय मे सर्व सम्मति से बिभा कुमारी को मेयर पद के लिए चुन लिया गया था। 46 वार्ड पार्षदों वाले नगर निगम में बहुमत के लिए 24 वार्ड पार्षदों के समर्थन चाहिए।जहाँ 20 पार्षदों ने लिखित रूप से अविश्वास प्रस्ताव लगा दिया है वहीं 4 वार्ड पार्षदों में उप मेयर संतोष यादव, सुशील सिंह, पप्पू पासवान एवं समरेंद्र कुणाल ने अपना पक्ष स्पष्ट नही किया है।गौरतलब यह है की नगर निगम के पार्षद ने ही मेयर बिभा कुमारी पर भ्रष्टाचार, मनमानी और तानाशाही का आरोप लगाया है।करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी शहर में कचड़े का अंबार,गंदगी,मच्छरों के प्रकोप सहित वार्डो में नाला, सड़क निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल ना रखते हुए घटिया निर्माण का कार्य हो रहा है।दबंग ठेकेदार भी मेयर साहिबा के खास माने जाते हैं।पार्षदों के कहना है कि आउटसोर्सिंग से मेयर अपने लोगों का नियम, कानून और योग्यता को ताक पर रख कर बहाली कर रही है साथ ही स्लम क्षेत्र में योजनाओं की खरीद फरोख्त बदस्तूर जारी है। राजकुमार राय हिंदुस्तान की आवाज़ बिहार से

Post a comment

Blogger