Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन । भिवंडी तालुुका के आदिवासी क्षेत्र कुहे ( भंडारपाडा ) स्थित बकरों के शेड में आग लग गई इस आगजनी की घटना ११  बकरों की तडप कर मौत हो गई है तथा ३ बकरों के गंभीर जखमी होने की घटना गुरुवार सुबह घटित हुई है। माधव पदू ठाकरे ( निवासी कुहे ,भंडारपाडा ) बकरी निवारा शेड जलने वाले किसान का नाम है।उक्त दुर्घटना में खेती पालन व्यवसायिक पर भारी संकट छाया है। माधव ठाकरे ने खेती के साथ ही बकरी पालन व्यवसाय शुरु किया था।इनके पास कुल ३० बकरा था जिनके लिए  उसने घर के समीप ही  निवारा शेड निर्माण किया था। इसलिए लकडी माच तैयार किया था परंतु रात्रि अचानक उक्त निवारा शेड में आग लग गई, उक्त आग में ११ बकरों की तडप कर मौत हो गई है तथा ३ बकरे जलने से गंभीर जखमी हो गए हैं। उक्त  आग विद्युत शॉर्ट सर्किट से लगी या मच्छरों के लिए लगाए गए  धुआं से यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। उक्त आगजनी की घटना की जानकारी होते ही माधव ठाकरे ने सपरिवार घटनास्थल पर पहुंचे और आग बुझाने का प्रयास किया। परंतु उक्त अवसर पर उनका लडका सचिन ठाकरे (२२) भी गंभीर रूप से जल गया है।उक्त घटना की जानकारी मिलते ही महसूल विभाग के चिंबीपाडा सजा तलाठी विकास खरात ,कुहे ग्रामपंचायत के ग्रामसेवक गणेश जाधव ,सरपंच निराबाई भुरे ,पं. स. सदस्य रेखा उघडा ,तंटामुक्ती समिति अध्यक्ष सुनिल मुंढे ,पंचायत समिति कृषि विस्तार अधिकारी आर.आर.पाटिल ,समाजसेवक मधुकर मुंढे आदि सहित  घटनास्थथल पर पहुंच कर हााल चल लिए और निरीक्षण किया।उक्त अवसर पर बकरी पालन करने वाले किसान को शासना द्वारा आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए पंचनामा कर तहसीलदार शशिकांत गायकवाड ने अहवाल प्रस्तुत किया है।                          

Post a comment

Blogger