Ads (728x90)

समस्तीपुर, हिन्दुस्तान की आवाज , राजकुमर राइ

समस्तीपुर। सातवें वेतन आयोग का लाभ, पेंशनादि विभिन्न मांगों को लेकर ग्रामीण डाक सेवकों की हड़ताल पाँचवें दिन भी अपने रुआब में दिखा। डाक सेवकों ने चार दिनो तक डाक ट्रेन से उतरने नहीं दिया। बाद में  नेताओं के निर्देश पर शनिवार से किसी डाककर्मी को ट्रेन से डाक प्राप्त में बाधा नहीं पहुँचायी जायगी। मगर वितरण कार्य ठप्प ही रहोगा। बताते चलें कि प्रति दिन 15027 अप मौर्य एक्सप्रेस एवं 13022 डाऊन मिथिला एक्सप्रेस से डाक आता जाता है। शुक्रवार को भी डाक सेवकों ने न तो डाक देने दिया न ही डाक प्राप्त करने दिया। हड़ताल को कारगर व सफल बताते हुए डाक सेवक रामदयाल ठाकुर ने बताया कि हमारे लिये काम के घंटे निर्धारित नहीं होते हैं। समाज के बीच रहने और तत्काल हर घर को डाक पहुँचाने की जिम्मेदारी निभाने मे कई बार तीज-त्योहार व रविवार के दिन भी किसी न किसी चौखट पर हाँक लगाते मिल जाते हैं हम। मगर हमारे कर्तव्यनिष्ठा व समर्पण का कोई महत्व नही। आजतक सातवें वेतन का लाभ हमें नही मिल सका।  संघ द्वारा स्मरण दिलाने के बाद भी हमे ईससे वंचित रखा गया है। वहीं दूसरी तरफ डाक वितरण के ठप्प होने से कॉल लेटर या परीक्षा सूचना या नियुक्ति पत्र की प्रतीक्षा कर रहे युवाओं मे खासी बेचैनी देखी जा रही है, कईयों को उनका भविष्य अंथकार मे दिख रहा है। मौके पर रामदयाल ठाकुर, रौशन कुमार सिंह, सुरेश सिंह, अशोक कुमार राय, रंजना कुमारी, तमीम अख्तर, सहित सभी ग्रांमीण डाक सेवक मौजूद थे।

Post a comment

Blogger