Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन। निजामपूर पुलिस स्टेशन अंतर्गत रहने वाले पावरलूम व्यवसायी वकील अहमद मो यासीन मोमिन व आफताब शेख के दरम्यान बोरिंग से पानी भरने को लेकर विवाद हुआ और मामला शांत हो गया था। परंतु पुनः 6 मार्च 018 को रात्रि लगभग 10 बजे खाडीपार आयशा मस्जिद के बगल में शान होटल के पास वकील अहमद मोमिन अपने  भाई  अकील मोमिन यह दोनों  बिल्डिंग के पास खड़े होकर बात कर रहे थे कि उसी समय आफताब अस्लम शेख, आरिफ अंसारी, आसिफ पटवारी, मुजीब खान व जिया यह पांचों  लकडी डंडा लेकर आए और दो दिन पूर्व हुए विवाद के कारण आक्रोशित मुद्रा में  आते ही इनके  ऊपर टूट पड़े तथा इसी में से किसी ने पत्थर व चाकू  से वार कर दिया  जिसमें वकील मोमिन व अकील मोमिन गंभीर रूप से जखमी हो गए और बेशुद्ध गिर गए। इनकी चीख पुकार सुनकर स्थानीय लोग आए तब जाकर जान बची, वहीं वकील के मित्र फिरोज  तुरंत रिक्शा में डालकर निजामपूर पुलिस स्टेशन लेकर गए, पुलिस स्टेशन में शिकायत कराया, पुलिस ने शिकायत दर्ज करने के बाद दोनों पीडित को स्व इंदिरा गांधी उप जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया  जिसमें से अकील की स्थिति गंभीर होने के कारण इन्हें ठाणे के निजी  टायटन  अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां लगभग दस  दिन  तक   उपचार जारी रहने के बाद डॉक्टरों ने डिस्चार्ज तो कर दिया है परंतु अभी भी स्थिति गंभीर है और उपचार जारी है  । निजामपूर पुलिस स्टेशन ने भादवि 323,324, 34 के अनुसार मामला दर्ज किया है जबकि अकील मोमिन की स्थिति गंभीर है   । परंतु पुलिस उक्त प्रकार से चारों के विरुद्ध मामूली धारा लगाकर उन्हें जमानत याचिका दायर करने व जमानत मंजूर होने के लिए पूरी सहायता की है तथा गंभीर रूप से जखमी होने पर भी धाराओं में कोई परिवर्तन नहीं कर रही है। इसी प्रकार गुंडों द्वारा पीड़ितों को धमकी दी जा रही है कि हमारे विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए तुम ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों  व न्यायालय  के समक्ष जुबान खोलने की कोशिश की तो अंजाम भयंकर होगा, तुम लोगों को समझ में आगया होगा कि पुलिस  हम लोगों का कुछ बिगाड़ नहीं सकती। उक्त प्रकार से खुल्लमखुल्ला गुंडा प्रवृत्ति के लोग मारे भी हैं और बिंदास होकर घूम रहे हैं और पुलिस इन्हें फरार बता रही है जो एक गंभीर समस्या बनी हुई है । पुलिस द्वारा उक्त प्रकार  निष्क्रियता  का परिचय दिया जाना गुंडों से आर्थिक लेन देन किए जाने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है जो पीडितों के लिए  एक गंभीर समस्या बनी हुई है, वहीं गुंडों द्वारा धमकी का सिलसिला जारी है जिस कारण  यह लोग भयभीत हैं । 

Post a comment

Blogger