Ads (728x90)

भिवंडी,हिन्दुस्तान की आवाज,एम हुसेन

भिवंडी। के रोशनबाग स्थित गत ४ अप्रैल को  झाड़ी में  एक चार वर्षीय मासूम बच्ची पायल महादेव प्रसाद  का दोनों  हाथ कटे अवस्था में  मृत्यु देह मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। भोईवाडा पुलिस स्टेशन द्वारा  ७२ घंटे में  हत्या की गुत्थी  सुलझाने में सफलता हासिल की है,  और हत्या उधारी का पैसा  वसुली के  विवाद  को लेकर की गई है  हत्यारोपी ने पुलिस द्वारा गहन पूछताछ किए जाने पर स्वीकार किया है इस प्रकार की जानकारी  भिवंडी परिमंडल  २ के  पुलिस  प्रभारी पुलिस  उपायुक्त सुनील भारव्दाज ने  मंगलवार को  पत्रकार परिषद में पत्रकारों को दी। विशेष रूप से  आरोपी पडोस में ही रहता था  जो ४ अप्रैल को ही बिहार भाग गया था जिसे गिरफ्तार करने के लिए  पुलिस का एक पथक बिहार रवाना  हुआ था। जो आरोपी को बिहार के  गणेशपूर गावं में  जाल बिछा कर जावेद मोहम्मद अजमीर शेख (२०)को हिरासत में लिया। मृतक पायल  टावरे कंपाउंड  परिसर के  गौतम चाली में  अपने माता-पिता  व भाई बहन के साथ  रहती थी। इसी परिसर में उसके  पिता  पान टपरी चलाते हैं  इसी पान टपरी पर आरोपी आवेद  उधारी  पान,बिडी लेता था परंतु पूर्व चार महीने से उसने उधारी का पंद्रह सौ

 रुपया बाकी कर रखा था ।  मृतक के पिता  महादेव प्रसाद अपना उधारी पैसा  मांगने के लिए तकादा किए जिसपर मारपीट की थी। जिसको लेकर मन में आक्रोश लिए    घर के  समीप  मैदान में  १ अप्रैल को  खेलने गई  पायल का अपहरण कर लिया था । परंतु  वह घर वापस नहीं आई तो रिश्तेदारों ने   आसपास के  परिसर में पायल को बहुत तलाश किया परंतु उसका कोई सुराग नहीं  मिला।जिसके बाद 

 पिता महादेव प्रसाद ने  २ अप्रैल को   मृतक पायल का अज्ञात व्यक्ति द्वारा   अपहरण  किए जाने की  नों

शिकायत दर्ज कराया था। महादेव प्रसाद की शिकायत पर  भोईवाडा पुलिस ने जांच शुरु कर दिया था उसी दरम्यान मृतक पायल का  घर से  ३०० मीटर अंतर पर   रोशन बाग परिसर के  झाडी में  उसका दोनों  हाथ  कटे

 अवस्था में  मृत्यु देह ४ अप्रैल को  दोपहर  के समय मिला। उक्त घटना की जानकारी मिलते ही   भिवंडी के  प्रभारी पुलिस  उपायुक्त सुनील भारव्दाज,भोईवाडा पोलीस स्टेशन के  वरिष्ठ पुलिस  निरीक्षक विजय भिसे पुलिस  पथक के साथ  घटनास्थल पर पहुंचे । घटनास्थल का पंचनामा कर मासूम पायल का मृत्यु देह कब्जे में लेकर   मृत्यु देह शवविच्छेदना के लिए  स्व.इंदिरा गांधी उप जिला  अस्पताल में भेज दिया  था। मासूम पायल की हत्या होने की शंका उसके रिश्तेदारों ने    व्यक्त किया था जिसे गंभीरता से लेते हुए  भोईवाडा

पुलिस ने  हत्यारोपी को पकडने के लिए  तीन पथक  गठित किया और   परिसर  के सूत्रधार द्वारा  सूचना मिली कि ४ अप्रैल से    आरोपी जावेद  घर से लापता  है इसी दिशा में  पुलिस ने  जांच  शुरु कर दिया। वह मूल रूप से  बिहार राज्य के  सपोल जिला, गावं  गणेशपूर का निवासी होने की  जानकारी  मिलने पर पुलिस का एक पथक पुलिस  निरीक्षक ( अपराध ) आर.पी.मायने ,पुउनि. एन. डी. जाधव ,एस. ए. बाराते व पुलिस  कर्मचारियों सहित  पुलिस  पथक बिहार   पहुंचकर स्थानिक पुलिस की सहायता से  आरोपी को गिरफ्तार में लेते हुए  गिरफ्तार कर लिया। .मंगलवार को आरोपी को  न्यायालय में  पेश किया जिसे मा   न्यायालय ने  १९ अप्रैल तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है जिसकी विस्तृत जांच पुलिस  निरीक्षक ( अपराध ) आर.पी.मायने कर रहे हैं। .

Post a comment

Blogger