Ads (728x90)

 मनपा के कोविड 19 आईजीएम उपजिला अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों को समुचित  उपचार  न मिलने के कारण मरीजों के मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है । मनपा  क्षेत्र  में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या एक हजार के ऊपर जाने के कारण उनके  उपचार  के लिये पोगांव के एक गोदाम में नया कोविड 19 अस्पताल बनाया जा रहा है। लेकिन कोविड अस्पताल बनाये जाने में महापौर प्रतिभा पाटील के पति मनपा के सभागृह नेता द्वारा करोड़ो रूपये का भ्रष्टाचार किया जा रहा है। सभागृह नेता के विरुद्ध भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुये एआईएमआईएम  के जिलाध्यक्ष शेख मो.खालिद गुड्डू ने जिलाधिकारी एवं मनपा आयुक्त को पत्र लिखकर जांच करके कार्रवाई की मांग की है।इस मामले में जानकारी लेने के लिये सभागृह नेता से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने मोबाइल रीसीव नहीं  किया  ।
    शेख मो. खालिद गुड्डू  ने जिलाधिकारी डॉ. राजेश नार्वेकर एवं मनपा आयुक्त डॉ. पंकज अशिया को दिये गये पत्र में कहा है कि आईजीएम उपजिला अस्पताल में वेंटीलेटर एवं ऑक्सीजन बेड्स के अभाव  के कारण यहां कोरोना के  उपचार  के लिये आने वाले मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वेंटीलेटर की व्यवस्था न होने के कारण कोरोना संक्रमित कई मरीजों की मौत भी हो चुकी है।शेख मो. खालिद  गुड्डू  ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुये कहा है कि तत्कालीन मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर की मिलीभगत से पोगांव में 350 बेड्स का कोविड 19  अस्पताल  बनाने के लिये आनन-फानन में निर्णय ले लिया गया है।लेकिन कोविड 19  अस्पताल  बनाये जाने में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाते हुये कहा कि महापौर प्रतिभा पाटील के पति सभागृह नेता विलास पाटील द्वारा अपने मनमर्जी से ठेका देकर  अस्पताल   में करोड़ो रूपये का भ्रष्टाचार किया जा रहा है।वहीं शेख मो. खालिद गुड्डू  ने इसके साथ ही इसमें शामिल मनपा अधिकारियों की भी जांच करके कार्रवाई करने  की मांग की है ।

Post a comment

Blogger