Ads (728x90)

 भिवंडी। एम हुसेन। शाहपुर तालुका के कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार की  सुविधा के लिये आसनगांव में 100 बेड का कोरोना हॉस्पिटल तैयार किया जा रहा है। जिसके लिये विभिन्न सामाजिक संस्थायें एवं औद्योगिक कंपनियां सहायता करने के लिये आगे आ रही हैं।इसी प्रकार अत्यावश्यक सेवा के लिये मुंबई जाने वाले पुरुष कर्मचारियों के लिये खातीवली में एवं आदिवासी विकास प्रकल्प परिसर स्थित बालिका छात्रावास में महिला कर्मचारियों के रहने की व्यवस्था की जा रही है। जिसके लिये तहसीलदार नीलिमा सूर्यवंशी प्रयत्नशील हैं।
  ठाणे जिलाधिकारी डॉ. राजेश नार्वेकर के निर्देश पर तहसीलदार एवं आपदा प्रबंधन की अध्यक्षा नीलिमा सूर्यवंशी द्वारा शाहपुर तालुका के कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार की सुविधा के लिये 100 बेड का कोरोना हॉस्पिटल तैयार करने  का युद्धस्तर पर प्रयास किया जा रहा है। जिसके लिये आसनगांव स्थित जोंधले कॉलेज में दो इमारत लिया जायेगा। आसनगांव में कोरोना हॉस्पिटल बन जाने के बाद यहां के कोरोना संक्रमित मरीजों को उपचार के लिये भिवंडी,ठाणे एवं मुंबई जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी । कोरोना हॉस्पिटल तैयार किये जाने के लिये वाशिंद स्थित जिंदल कंपनी द्वारा 50 बेड सावरोली स्थित मानस मंदिर ट्रस्ट द्वारा 20 बेड एवं उल्हासनगर के एक कंपनी मालिक द्वारा 20 बेड देने की जानकारी  प्राप्त हुई है ।
  अत्यावश्यक सेवाओं के लिये शाहपुर से मुंबई एवं ठाणे जाने वाले लोगों की संख्या अधिक है। जिसके कारण शाहपुर के लोगों में भय का वातावरण व्याप्त है। जिसके लिये ठाणे  जिलाधिकारी डॉ.राजेश नार्वेकर के निर्देश पर खातीवली एवं आसनगांव की नई इमारतों में प्रशासन ने कई फ़्लैट अपने कब्जे में ले लिया है। जहां अत्यावश्यक सेवाओं के लिये मुंबई एवं ठाणे जाने वाले पुरुष कर्मचारियों के रहने के लिये व्यवस्था किया गया है। इसी प्रकार से महिला कर्मचारियों के लिये आदिवासी विकास प्रकल्प परिसर स्थित बालिका छात्रावास में रहने की व्यवस्था की गई है। तहसीलदार नीलिमा सूर्यवंशी ने बताया कि यहां रहने वाले कर्मचारियों के लिये गादी,पंखा एवं पानी आदि की सभी सुविधायें उपलब्ध कराई जायेंगी।इसी प्रकार  उन्होंने यह भी  बताया कि अत्यावश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों से यहां स्वेच्छा से रहने के लिये उनसे जल्द ही संपर्क किया जायेगा ।   




Post a comment

Blogger