Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन। भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में  दिनों दिन वृृद्धि  हो रही है, जिसके कारण मनपा द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार के लिये चार स्तरीय व्यवस्था की गई है। जिसके तहत प्रथम स्तर पर मनपा के पांचो प्रभाग समितियों में पांच बुखार दवाखाना बनाया गया है, जहां मरीजों के बुखार की जांच की जाती है, दूसरे स्तर पर भिवंडी-कल्याण बाईपास पर रांजनोली स्थित टाटा आमंत्रा में कोविड केयर सेंटर बनाया गया है, तीसरे स्तर पर आईजीएम उपजिला अस्पताल को कोविड हॉस्पिटल बनाया गया है और चौथे स्तर पर शहर के अस्पतालों एवं नर्सिंग होम में व्यवस्था की गई है।
   उक्त प्रकार की जानकारी देते हुये मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर ने बताया कि उपरोक्त स्थानों पर कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार करने के साथ कोरोना संक्रमण का प्रसार रोकने के लिये उचित सावधानी रखना आवश्यक है। मनपा आयुक्त ने बताया कि तीनों स्थानों के अलावा शहर के निजी अस्पतालों,नर्सिंग होम एवं अन्य दवाख़ानों में बाह्य मरीज ओपीडी के तहत देखने की सूचना दे दी गई है ।
   इसी प्रकार  ट्रायज एरिया जिसमें प्रमुख रूप से जिन्हें कोरोना है और जिन्हें कोरोना नहीं है, ऐसे मरीज एक जगह न हो पाये। इसके लिये नॉन फीवर ओपीडी के बाहर ट्रायज एरिया बनाया गया है। जिसमें आने वाले सभी मरीजों की जांच करके कोरोना का कोई लक्षण न दिखाई पड़ने पर उसकी जांच करने के बाद ही उन्हें प्रवेश दिया जाये। लेकिन कोरोना का लक्षण दिखाई पड़ने पर तत्काल कोरोना के उपचार के लिये उन्हें तत्काल अस्पताल में भेजना आवश्यक है।
मनपा आयुक्त डॉ प्रवीण आष्टीकर  ने दी है चेतावनी,
ट्रायज एरिया में स्वास्थ्य कर्मचारियों को पीपीई कीटस का उपयोग करते हुये पूरी सावधानी के साथ मरीजों की जांच करना है ।मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर ने चेतावनी देते हुये कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सावधानी न बरतने वाले अस्पतालों एवं नर्सिंग होम मालिकों के विरुद्ध संसर्गजन्य रोग प्रतिबंधक अधिनियम के तहत कार्रवाई की जायेगी ।         

Post a comment

Blogger