Ads (728x90)

खाद्यान्न सामग्री के साथ वस्त्र भी किए वितरित

मानव सेवा को मानते हैं प्रभु की सच्ची सेवा एवं भक्ति

शाहजहांपुर/  कोरोना वायरस  की  महामारी के संकट के बीच लंबे  लॉक डाउन  में काम धंधा ठप होने के कारण अब मजदूर वर्ग  बेरोजगार  लोगों के सामने  रोजी रोटी का संकट खड़ा कर दिया है वही  शाहजहांपुर कलेक्ट्रेट  कचहरी में  हजारों की संख्या में घूमने वाले  बेजुबान बंदर जो कलेक्ट्रेट में प्रतिदिन हजारों की संख्या में आने वाले लोगों के सहारे अपना जीवन यापन कर रहे थे वही लोग उनको कुछ खिला देते थे तो कुछ लोगों से वह छीन कर खा लेते थे अब पूरे दिन  रोड के किनारे बैठे बेजुबान बंदर  सुनसान सड़कों पर  लोगों का  इंतजार करते रहते हैं  कि कब कौन आए और उनको कुछ खिला जाए क्योंकि वह बेजुबान अपनी भूख की पीड़ा भी इजहार नहीं कर सकते जरूरतमंदों को कुष्ठ सेवा आश्रम राशन सामग्री पहुंचाने निकले अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़ा वर्ग कल्याण विकास संस्था  संत गाडगे सेवा आश्रम के महानगर अध्यक्ष  रामवीर कनौजिया को  उनकी पीड़ा समझ में I आ गई  और उन्होंने  केला की फली  आदि सामग्री  मंगाकर  बेजुबान बंदरों को  खिलाते हुए खाद्यान्न सामग्री जरूरतमंदों को वितरित की वही जरूरतमंदों को वस्त्र भी वितरित किए समाजसेवियों को चाहिए कि जरूरतमंद इंसानों के साथ-साथ बेजुबान पशुओं का भी विशेष ख्याल रखें  इस दौरान एसएम बी पब्लिक स्कूल के प्रबंधक रामवीर कनौजिया ने  महानगर  क्षेत्र के  ग्राम चौड़ेरा रौसर कोठी तहवर गंज पुत्तू लाल चौराहा कुष्ठ  सेवा आश्रम आदि क्षेत्रों में जाकर असहाय और जरूरतमंद लोगों को राशन वितरण कर मदद की। वहीं दूसरी तरफ आज नेहरू कुष्ठ आश्रम में भी रामवीर कनौजिया जी ने असहाय और जरूरतमंद व विकलांगों को खाद्य सामग्री के साथ-साथ कपड़े भी वितरण किए और बेजुबान जानवरों को फल खिलाकर मानवता का परिचय दिया।

Post a comment

Blogger