Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन। भिवंडी में कोरोना वायरस से संक्रमित एक भी मरीज नहीं पाया गया है जो यहां के लिए अत्यंत हर्ष की बात है।इसके बावजूद सतर्कता के लिये यहां के इकलौते सरकारी अस्पताल इंदिरा गांधी मेमोरियल उपजिला अस्पताल कोरोना हॉस्पिटल बना दिया गया है । विधायक रईस शेख के प्रयासों के परिणाम स्वरुप  आईजीएम उपजिला अस्पताल को चार नया वेंटीलेटर भी उपलब्ध करा दिया गया है ।मरीजों की सुविधा के लिये अस्पताल के विभागों को शहर के निजी अस्पतालों में स्थलांतरित किया गया है। 
    उल्लेखनीय है  कि 100 बेड के आईजीएम उपजिला अस्पताल कोरोना हॉस्पिटल बनाने की सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं, आईजीएम उपजिला अस्पताल के चिकित्साधीक्षक डॉ  अनिल थोरात ने जानकारी देते हुए  बताया कि कोरोना के मरीज का सारा  उपचार  यहीं किया जायेगा अब उसे कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी । कोरोना वायरस से संक्रमित महिला मरीजों के लिये अलग वार्ड एवं पुरुष मरीजों के लिये अलग वार्ड बनाया गया है।कोरोना के वायरस से सुरक्षा की दृष्टि से कोरोना का उपचार  करने वाले डॉक्टरों सहित अस्पताल के अन्य स्टॉफ के लिये अस्पताल में जाने आदि की अलग व्यवस्था की गई है ।   
 आईजीएम उपजिला अस्पताल में चल रहे विभागों को शहर के निजी अस्पतालों में स्थलांतरित किया गया है, ताकि अस्पताल में आने वाले मरीजों को उपचार  के लिये किसी प्रकार की परेशानी  का सामना न करना  पडे ।इसके लिये आईजीएम उपजिला अस्पताल के नवजात शिशु विभाग (एनआईसीयू) को भंडारी कंपाउंड स्थित लोटस हॉस्पिटल,आनंद दिघे चौक स्थित सेंट्रल हॉस्पिटल, कल्याण नाका स्थित गोरे हॉस्पिटल एवं एसटी स्टैंड स्थित द्रोण हॉस्पिटल में स्थलांतरित किया गया है। इसी  प्रकार  दुर्घटना विभाग (कैज़ुएल्टी) एवं कानूनी मामलों से संबंधित (एमएलसी) मरीजों के लिये वंजारपट्टी नाका स्थित सिराज हॉस्पिटल में स्थलांतरित किया गया है, प्रसूति विभाग (मैटरनिटी) को धामनकर नाका स्थित ऑरेंज हॉस्पिटल एवं मंडई स्थित ऑर्बिट हॉस्पिटल में स्थलांतरित किया गया है। बाहरी मरीज विभाग (ओपीडी) के लिये मनपा के नदीनाका स्वास्थ्य केंद्र एवं गरीब नवाज सभागृह चव्हाण कालोनी में किया गया है । 
भिवंडी पूर्व विधानसभा  के विधायक रईस शेख के प्रयास से आईजीएम उपजिला अस्पताल को चार नया अत्याधुनिक वेंटीलेटर  उपलब्ध कराया  गया है। जिसे आईजीएम उपजिला अस्पताल के चिकित्साधीक्षक डॉ. अनिल थोरात के सुपुर्द कर दिया गया है। विधायक रईस शेख ने बताया कि मुंबई मनपा के आयुक्त प्रवीण परदेशी के सहयोग से टाटा संस द्वारा आईजीएम उपजिला अस्पताल को चार नया अत्याधुनिक वेंटीलेटर उपलब्ध कराया गया है। वेंटीलेटर की संरचना ऐसी है जिसमें मरीज और डॉक्टर सहित स्टॉफ सभी की सुरक्षा रहेगी। सूत्र बताते हैं कि इससे पहले पिछले 20  वर्षों  में आईजीएम अस्पताल के पास  केवल चार वेंटीलेटर ही थे, जिसके कारण गंभीर हालत में आने वाले मरीजों के लिये भारी असुविधाएं होती थी। लेकिन विधायक रईस शेख के प्रयासों से चार वेंटीलेटर मिलने के बाद अस्पताल में अब आठ वेंटीलेटर हो गये हैं। मनपा सूत्रों के अनुसार शहर के अन्य निजी अस्पतालों के पास 11 वेंटीलेटर थे , मनपा आयुक्त से मिली जानकारी के अनुसार आईजीएम सहित निजी अस्पतालों को मिलकार कुल 19 वेंटीलेटर हो गये हैं।आईजीएम उपजिला अस्पताल के चिकित्साधीक्षक डॉ.अनिल थोरात ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा और वेंटीलेटर मिलने की संभावना है ।मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर ने चार अत्याधुनिक वेंटीलेटर दिलाने पर विधायक रईस शेख के प्रति आभार व्यक्त किया है । उक्त संदर्भ में सपा भिवंडी जिलाध्यक्ष अरफात शेख ने  विधायक रईस शेख सहित मुंबई मनपा आयुक्त एवं टाटा संस के प्रति आभार व्यक्त किया है।

Post a comment

Blogger