Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन। जरूरत मंदों को  सहयोग करने के लिये यह आवश्यक नहीं है कि हमारे पास हजारों-लाखों रूपये हों तभी हम दान कर सकते हैं। कोरोना महामारी के इस संकट में हमारे पास 10-20 रुपया है तब भी हमें दान करके जरूर  सहयोग करना चाहिये। दान करके सहयोग करने की ऐसी ही मिसाल प्रस्तुत करके कोंबड़पाड़ा में रहने वाले विकास चव्हाण ने करते हुए  लोगों को उनका आभार व्यक्त करने के लिये मजबूर कर दिया, ऐसे  दानवीर के जज्बे को सलाम करना चाहिये ।
  उल्लेखनीय है  कि शिवाजी चौक के पास स्थित चाचा नेहरू हिंदी हाईस्कूल में समाजसेवी संस्था श्री भैरव सेवा समिति द्वारा कोविड-19 सेवा के लिये कम्युनिटी किचन शुरू किया गया है,जहां से भिवंडी शहर सहित ग्रामीण  क्षेत्र के लोगों को  भोजन का पैकेट गरीब मजदूरों,बेघर लोगों एवं जरूरत मंद परिवारों को उनके घर पहुंचाया जा रहा है। समिति की यह सेवा देखकर कोंबड़पाड़ा निवासी विकास चव्हाण से नहीं रहा गया,उनके पास सहयोग करने के लिए  पैसा नहीं था। इसके बावजूद उन्होंने अपने घर में रखा आठ किलो चावल कंधे पर लेकर श्री भैरव सेवा समिति के कम्युनिटी किचन में देने के लिये पहुंच गये। कंधे पर आठ किलो चावल लेकर सहयोग करने के लिये पहुंचे विकास चव्हाण का श्री भैरव सेवा समिति ने दिल से स्वागत किया। समिति के अध्यक्ष पुष्पतराज जैन ने बताया कि विकास चव्हाण द्वारा किया गया आठ किलो चावल का सहयोग उनके लिये लाखों रूपये से भी अधिक है। सहयोग करने का जज्बा यदि सभी लोगों में आ जाये तो हमारे  शहर में कोई भी व्यक्ति  भूखा नहीं रह सकता है। 

Post a comment

Blogger