Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन।भिवंडी के सफाई मजदूर  तथा लिपिक पद पर कार्यरत कर्मचारी को  कोरोना वायरस उपाय योजना में घोर लापरवाही बरतने के कारण मनपा उपायुक्त दीपक कुरलेकर ने निलंबित कर दिया है ।इस प्रकार की कार्रवाई से मनपा कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है ।
    गौरतलब हो कि विश्व सहित देश भर में कोरोना वायरस फैला हुआ है, इस वायरस से नागरिकों को बचाने के लिए भिवंडी मनपा प्रशासन ने  अनेक उपाय योजना शुरू कर रखी  है ।इसी उपाय योजना के अंर्तगत मनपा प्रशासन द्वारा  शहर के मुख्य रास्तों तथा भीड़ भाड वाले स्थानों पर कीट नाशक औषधि का छिड़काव किया जारहा है ।भिवंडी मनपा प्रशासन के आरोग्य विभाग में कीट नाशक औषधि कितनी है जांच कर कीट  नाशक औषधि नहीं होने पर औषधि खरीदने का आदेश महापौर  श्रीमती  प्रतिभा विलास पाटिल ने लिखित रूप से आरोग्य विभाग को दिया था । जिसकी जानकरी मांगने पर आरोग्य विभाग में कार्यरत लिपिक हेमंत महाजन 17 मार्च को कार्यालय में गैर हाजिर था और  अपना मोबाइल फोन भी बंद रखा  था।अत्याधिक महत्वपूर्ण विषय पर संबंधित कर्मचारी उपस्थित नहीं रहने तथा अपना मोबाइल फोन बंद रखने की शिकायत महापौर श्रीमती प्रतिभा  पाटिल ने मनपा आयुक्त डाॅ. प्रवीण आष्टीकर से की।शिकायत के बाद मनपा प्रशासन ने महाजन की जांच  शुरू की ,जांच  में वह दोषी पाया गया ।परिणाम स्वरूप  मनपा आयुक्त डाॅ. प्रवीण आष्टीकर के आदेशानुसार उपायुक्त दीपक कुरलेकर ने हेमंत महाजन को निलंबित कर दिया है। निलंबन  आदेश में हेमंत महाजन मनपा निलंबित कर्मचारी कोई  प्राइवेट नौकरी या बिजनेस करते हुए पाया गया,तो उसे दोषी मानते हुए  मनपा प्रशासन की सेवा से मुक्त कर दिया जायेगा । इस प्रकार का आदेश उपायुक्त दिपक कुरलेकर ने दिया है ।उक्त कार्रवाई  से  मनपा कर्मचारियों  में हडकंम मचा हुआ है  ।

Post a comment

Blogger