Ads (728x90)

 भिवंडी ।एम हुसेन।केंद्र  सरकार द्वारा लाये गये  नागरिक संसोधन क़ानून के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा के नेतृत्व में विभिन्न संगठनों द्वारा आयोजित भारत बंद का भिवंडी में मिला जुला असर रहा ।मुस्लिम  क्षेत्रों  की दुकानें ,व्यापार  आदि सुबह से ही पूरी तरह से बंद रही,बल्कि  अधिकतर  क्षेत्रों
में चाय एवं पान की दुकानें तक बंद रही जिसकाण   सन्नाटा पसरा हुआ था ।इस भारत बंद में कई रिक्शा संगठनों के शामिल होने के कारण स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों, प्रवासियों विशेष रूप से महिलाओं को अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ा  है ।मंगलवार सुबह से शहर के प्रमुख स्थानों पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया था ।   
  बहुजन क्रांति मोर्चा के भारत बंद के आवाहन को लेकर मंगलवार को सुबह से ही लोगों में उत्सुकता बनी रही ,बंद के लिये शहर में न तो कोई कार्यकर्ता था और न ही आंदोलन के लिये सड़क पर कोई नेता आया ,इसके बावजूद शहर के शांतिनगर,गैबीनगर,कल्याण रोड,निजामपुरा , बाला कंपाउंड ,सौदागर मोहल्ला,कोटरगेट परिसर,खंडूपाड़ा,वंजारपट्टी नाका, धामनकर नाका,दरगाह रोड,दीवान शाह, अजमेर नगर ,नायगावं,गायत्री नगर,सलामत पुरा,जैतून पुरा ,मंगल बाजार सिलैब,नालापार, खाडी पार   सहित अन्य क्षेत्र के
  दुकानदारों ने  सुबह से ही अपनी अपनी दुकानों को बंद करके भारत बंद का पूर्ण रूप से  समर्थन किया । बहुजन क्रांति मोर्चा के इस भारत बंद को शहर के कुछ ऑटो रिक्शा संगठनों ने भी समर्थन देते हुये ऑटो रिक्शा बंद रखा था। स्कूली छात्रों सहित रोजाना काम धंधा के लिये आने जाने वाले लोगों को इसकी कोई जानकारी नहीं थी, जिसके कारण स्कूल जाने वाले छात्रों सहित काम धंधा के लिये जाने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है। इसके अलावा कामतघर,अंजुरफाटा, भंडारी कंपाउंड, 72 गाला ,राम नगर ,नारपोली  मंडई ,बाजार पेठ,गौरीपाड़ा एवं नजराना कंपाउंड सहित अन्य  क्षेत्रों  की कुछ  दुकानों को छोडकर  बाकी दुकानें  बंद रही ।
  इस बंद के दौरान भिवंडी पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे द्वारा  पुलिस  का कड़ा बंदोबस्त किया गया था ,शहर में क़ानून एवं व्यवस्था बनाये रखने के लिये पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे द्वारा भिवंडी पुलिस के अलावा एसआरपी के जवानों को भी तैनात किया गया था ।उक्त  शांतिपूर्ण  बंद  सफल होने के बाद भिवंडी शासन व प्रशासन ने राहत की सांस ली। 

Post a comment

Blogger