Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी तालुुका के शेलार ग्राम पंचायत के घंटा गाड़ी द्वारा नदीनाका स्थित कामवारी नदी में कचरा डालने प्रकरण में पंचायत समिति के गटविकास अधिकारी द्वारा ग्रामसेवक को और शेलार ग्राम पंचायत के सरपंच द्वारा सफाई कर्मचारी एवं घंटा गाड़ी के चालक को निलंबित कर दिया गया है। इस प्रकार से कामवारी नदी में कचरा डालने के मामले में तीन लोगों को लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित किया जा चुका है। वहीं पंचायत समिति की विस्तार अधिकारी रेखा पाध्ये ने तीनों कर्मचारियों के विरुद्ध भिवंडी तालुका पुलिस स्टेशन में हस्पतक्षेप न करने योग्य (एनसी) मामला दर्ज करा दिया है। पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत द्वारा की गई इस कार्रवाई से लापरवाह अन्य कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। 
  ज्ञात हो कि भिवंडी मनपा की सीमांतर्गत से सटे शेलार ग्राम पंचायत के सफाई कर्मचारी समीर जाधव एवं घंटा गाड़ी के चालक सुनील राम चन्ने द्वारा दो जुलाई को घंटा गाड़ी में भरा कचरा डंपिंग ग्राउंड में डालने की अपेक्षा नदीनाका स्थित कामवारी नदी के किनारे डाल दिया गया था। जबकि स्वच्छता अभियान का हवाला देते हुए वहां मौजूद एक जागरूक नागरिक द्वारा नदी में कचरा डालने से मना किया जा रहा था। इसके बावजूद सफाई कर्मचारी समीर जाधव एवं वाहन चालक सुनील राम चन्ने उसे दमदाटी देते हुए  घंटा गाड़ी का पूरा कचरा नदी के किनारे डाल दिया गया था, जिसका वीडियो बड़ी तेजी से वायरल हो गया था।
     कामवारी नदी में कचरा डालने का वीडियो वायरल होने के बाद शेलार ग्राम पंचायत के सरपंच रविंद्र गुंडोल्कर ने इसे गंभीरता से लेते हुए वाहन चालक सुनील राम चन्ने के विरुद्ध तीन जुलाई को ही निलंबन की कार्रवाई कर दिया था। इसके बावजूद समाजसेवक अशोक जैन सहित अन्य कई लोगों ने भिवंडी के उपविभागीय अधिकारी, मनपा आयुक्त एवं जिलाधिकारी ठाणे से इसकी शिकायत की थी। जिसे जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.बी.नेमाने द्वारा गंभीरतापूर्वक संज्ञान में लेते हुए  पंचायत समिति भिवंडी के गट विकास अधिकारी अशोक सोनटक्के को कार्रवाई करने का आदेश दिया था, जिसके बाद पंचायत समिति के गटविकास अधिकारी अशोक सोनटक्के ने ग्रामसेवक यशवंत महाप्से को निलंबित कर दिया और शेलार ग्राम पंचायत के सरपंच रविंद्र गुंडोल्कर ने ग्राम पंचायत के सफाई कर्मचारी समीर जाधव को निलंबित कर दिया है। सरपंच रविंद्र गुंडोल्कर ने वाहन चालक सुनील राम चन्ने को गैरजिम्मेदारी एवं लापरवाही बरतने के आरोप में पहले ही निलंबित कर दिया था, इस प्रकार से कामवारी नदी में कचरा डालने के मामले में तीन लोग निलंबित किए जा चुके हैं।उक्त कार्रवाई से लापरवाही बरतने वालों में हडकंप मचा हुआ है। 

Post a comment

Blogger