Ads (728x90)



-
ठाणे कारागृह में कैदी ,बंदियों के लिए जगत छाया फाउंडेशन व महाराष्ट्र एकता मंच एवं जनमित्र शांतिदूत परिवार द्वारा संयुक्त रूप से राज्य के विशेष पुुलिस महानिरीक्षक डॉ. विठ्ठलराव जाधव के  मार्गदर्शन में  प्रेरणा व परिवर्तन कार्यशाला व राष्ट्रीय एकात्मता आधारित प्रबोधनात्मक " प्रवचन " कार्यक्रम नववर्ष २०१९ के उपलक्ष्य में बीते कल सुबह १० से १ बजे तक  आयोजित किया था।भिवंडी की शांतीदूत परिवार नामक सामाजिक संंस्था के  माध्यम से महाराष्ट्र के  विविध कारागृह में कैदी बंदियों के लिए सामाजिक प्रबोधन व राष्ट्रीय एकात्मता अंतर्गत निरंतर प्रेरणा व परिवर्तन कार्यशाला आयोजित कर रहे हैं। नववर्ष के उपलक्ष्य में ठाणे के कारागृह में कैदी बंदियों के लिए शांतीदूत संस्था परिवार द्वारा प्रेरणा व परिवर्तन कार्यशाला व प्रवचन का आयोजन किया गया था। उक्त अवसर पर व्यासपीठ पर उप अधीक्षक ए.एस.सदाफुले ,प्रवचनकार ह.भ.प.डॉ नीलमताई पाचुपते - येवले,शांतीदूत परिवार अध्यक्ष शरद भसाले,सदस्य सलाहुद्दीन शेख सहित अन्य मान्यवर उपस्थित थे। उक्त अवसर पर प्रवचनकार ह.भ.प.डॉ.नीलमताई  ने उपस्थित कैदी बंदियों से संवाद किया,उन्हें अपराध से दूर रहकर सुखी जीवन यापन करने व अध्यात्मिक मार्ग पर चलने की सीख दी।कार्यक्रम में शांतीदूत परिवार संस्था के अध्यक्ष शरद भसाले  ने राष्ट्रीय एकात्मता व सामाजिक भाईचारा बाबत अपने विचार व्यक्त करते हुए आक्रोश व नाराजगी पर नियंत्रण रखेंगे तो होने वाले अपराध से सुरक्षित रहेंगे इस प्रकार का मत व्यक्त किया। तथा वरिष्ठ शांतीदूत सदस्य सलाहुद्दीन शेख व काशीनाथ पारटे ने शीघ्ररूप से  देश प्रेम व एकात्मिक विचार पर प्रकाश डालते हुए उपस्थित बंदीजनों व पुलिस अधिकारियों का मन जीत लिया।उक्त अवसर पर शांतीदूत परिवार के वसीम खान,अनिल फडतरे, रहीम शेख,श्रीमती पारटे,विजय येवले  आदि मान्यवर उपस्थित थे।उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कारागृह के अधीक्षक एन.वायचल,पुलिस उपाधीक्षक ए.एस.सदाफुले,पुलिस निरीक्षक वी.पी.कापडे,अविनाश गावीत व उनके सहकारियों ने भरपूर सहकार्य किया।वहीं उपस्थित बंदीजनों ने भी अपना मनोगत व्यक्त किया। कार्यक्रम का प्रस्ताविक  पुलिस उपाधीक्षक सदाफुले तथा आभार प्रदर्शन
पुलिस निरीक्षक वी.पी.कापडे व शरद भसाले ने किया। उक्त कार्यक्रम लगभग दो घंटों तक चला जिसमें  सैकडों बंदीजनों ने भागी लिया। संचालन पुलिस उपाधीक्षक ए एस सदाफुले ने किया। 

Post a comment

Blogger