Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन ।भिवंडी निजामपुर शहर महानगरपालिका प्रशासन द्वारा विगत 20 वर्षों से विभिन्न स्थानों पर काम कर रहे कर्मचारियों को उनके मूल विभाग ट्रांसफर किया गया था जिसके विरोध में कर्मचारी और उनके यूनियन प्रतिनिधिमंडल सर्वोच्च न्यायालय गए जहां पर न्यायालय ने 129 कर्मचारियों के ट्रांसफर पर फिलहाल स्टे ऑर्डर दे दिया है जिससे कर्मचारियों ने राहत की सांस ली है। गौरतलब हो कि भिवंडी निजामपुर शहर महानगरपालिका के तत्कालीन आयुक्त डॉ योगेश महसे ने 129 कर्मचारियों को उनके मूल विभाग में ट्रांसफर कर दिया था । आयुक्त के उक्त आदेश का भारतीय कर्मचारी महासंघ ने विरोध किया। कर्मचारी महासंघ के महासचिव भाई जगताप ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया और उन्हें इस मामले में फिलहाल न्यायालय से स्थगित मिल गई है। सर्वोच्च न्यायालय से अगली तारीख तक" जैसे थे "का आदेश मिलने से मनपा के 129 कर्मचारियों को राहत मिली है ।इसलिए भारतीय कर्मचारी महासंघ के संगठन सचिव लक्ष्मण कुड़व, भिवंडी यूनिट अध्यक्ष भानुदास भसाले ,सचिव श्रीपद तांबे ने इस मामले में कर्मचारियों की सहायता करने तथा एडवोकेट श्रीपाल सिंह और एडवोकेट आनंद पै ने संगठन की ओर से न्यायालय में अपना पक्ष रखा।इसके लिए सभी के प्रति आभार व्यक्त किया है।

Post a comment

Blogger