Ads (728x90)

समस्तीपुर| आदर्श नगर थाना  को कुछ पुलिस पदाधिकारी बदनाम करने के लिए तुले हैं,जबकि थाना अध्यक्ष दिन रात एक कर अपराध नियंत्रण के लिए  दिन-रात प्रयास करते हैं | वहीं नगर थाना में  संदिग्ध पदाधिकारी पाकेटमार, वैश्या एवं शराब तस्करी  कराने के धंधे में संलिप्त हैं आदर्श थाना से निकलते हैं  गस्ती पर अपराधियों की तलाश में परंतु जीप का चालक और  संदिग्ध अपराधी प्रवृत्ति के अधिकारी चौक चौराहे पर मोटरसाइकिल चेकिंग के नाम पर इनोसेंट लोगों से 200 से लेकर ₹500 नाजायज वसूली करने से बाज नहीं आते जब कोई परफेक्ट आदमी इसका विरोध करते हैं तो गंभीर अपराध में फंसाने की धमकी देते हुए पुलिस गाड़ी में बैठा लेते हैं, जब आम पब्लिक का विरोध होता तो बिल्ली की तरह मैं आऊं मैं आऊं करके छोड़ देते है। आज दिन के 12:00 बजे से 3:00 बजे तक माल गोदाम चौक, पुरानी दुर्गा स्थान, गणेश चौक ,अटल चौक, गोल्ड फील्ड माधुरी चौक स्थानों पर रेलकर्मी के पुत्र गांव के संभ्रांत व्यक्तियों को लाइसेंस हेलमेट नाम पर शंभू प्रसाद नामक जमादार और जीप का चालक अभद्र व्यवहार करते देखे गए | पुलिस जीप  संख्या 4703 से कर रहे हैं गस्ती पुलिस के चालक और जमादार शंभू प्रसाद के क्रियाकलापों की जांच कराने की मांग विभिन्न राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं ने किया है और समस्तीपुर के SP से  इनके काले कारनामों की जांच शीघ्र कराने की मांग की है साथ ही इन्हें तत्काल निलंबित कर इनके द्वारा पॉकेटमार,वेश्यावृत्ति ,शराब तस्करी नगर में अवैध वसूली अवैध लोगों से कराने जैसे काली करतूतों की जांच कराने की मांग की है | अगर समय रहते जिला प्रशासन शंभू प्रसाद पर नहीं की करवाई तो कभी भी समस्तीपुर शहर में विस्फोटक घटना होने से इनकार नहीं किया जा सकता इसलिए कि इनके द्वारा शातिर अपराधियों को संरक्षण देने की भी चर्चा है | जानकार सूत्र बताते हैं की शंभू प्रसाद जब से नगर में  पदस्थापित हुए हैं तब से शराब तस्कर पाकेटमारो,वेश्यावृति, शातिर अपराधियों का शरणस्थली समस्तीपुर शहर बन चुका है |

Post a comment

Blogger