Ads (728x90)

मुम्बई, हिंदुस्तान की आवाज़, शमा ईरानी

 में माहिर हैं !

आर्यन सिंह की उम्र सिर्फ 16 साल है; लेकिन उन्होंने इस छोटी सी उम्र में एक बेमिसाल मुकाम हासिल किया है।आश्चर्यजनक बात यह है कि उन्होंने इंटरनेट से सभी ज्ञान प्राप्त कर लिया है। हम सभी अपने जीवन के उस चरण से गुजरते हैं जहां पढ़ाई लिखाई, ग्रेड, अतिरिक्त- पाठ्यचर्या जैसी गतिविधियां बहुत महत्वपूर्ण हो जाती हैं।बच्चे अक्सर लोगों के लिए बनाए गए कुछ नियमों में फिट होने के लिए कई बार निराशा से अपने करियर को चुनते हैं, ऐसी परिस्थितियों में आत्मनिर्भरता अत्यंत महत्वपूर्ण है।
आर्यन सिंह ने कम उमरी से ही अपनी सभी रचनात्मकता और आत्मा को टेक्नोलॉजी में डालकर विभिन्न आकर्षक मॉडल और मिनी विमान बनाना शुरू कर दिया था।वह हमेशा पहेली को सुलझाने में लगे रहते थे।जल्द ही, उन्होंने कंप्यूटर विज्ञान के विभिन्न पहलुओं जैसे विभिन्न भाषाओं, ऐप, वेब विकास इत्यादि के बारे में पता लगाया। उन्हें बहुत ही कम आयु में डिजिटल दुनिया का व्यापक संपर्क मिला। वह प्रयोगात्मक रहे है, उनके विचारों को वास्तविकता देने और उन्हें परियोजनाओं का रूप देने में उनके आत्मविश्वास ने बड़ा काम किया। जिसकी वजह से वह उद्यमी बने।

वह हमेशा कुछ नया बनाने, आविष्कार करने और मानवता की भलाई के लिए कोइप्रोग्राम  विकसित करने में विश्वासकरते थे।


आर्यन सिंह वर्तमान में राजस्थान और लद्दाख के छह गांवों और अफ्रीका के ग्रामीण हिस्सों में आयोजित एक रविवार स्कूल 'सन्डे पाठशाला' के मुख्य योजनाकार है। इसने 150 से ज्यादा वंचित बच्चों और आनेवाले कई लोगों की मदद की हैउनका उद्देश्य जितना संभव हो उतना आविष्कार करना है।

Post a comment

Blogger